करूणानिधि को आखिर दफनाया क्यों जा रहा?

  By : Bankatesh Kumar | August 8, 2018

चेन्नई। तमिलनाडु की राजनीति के भष्म पितामह कहे जाने वाले प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और DMK प्रमुख एम. करुणानिधि का मंगलवार को निधन हो गया। उन्होंने शाम 6 बजकर 10 मिनट पर अंतिम सास ली। उनकी मौत से पूरे देश में शोक की लहर है। करुणानिधि के समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं का रो रोकर बुरा हाल हो गया है। चेन्नई स्थित राजा जी हॉल में उनके पार्थिव शरीर को दर्शन के लिए रखा गया है। आज सुबह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रक्षामंत्री निर्णला सीता रमन ने राजा जी हॉल जाकर करुणानिधि के पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि दी। वहीं हाई कोर्ट ने मरीना बीज पर करुणानिधि काअंतिम संस्कार करने के लिए आदेश दिया है।

हाई कोर्ट के आदेश मिलते ही DMK समर्थकों के बीच खुशी की लहर दौड़ पड़ी। क्योंकि समर्थकों की मांग थी कि मरीना बीज पर डीएमके के संस्थापक अन्नादुरै के कब्र के नजदीक ही उन्हें भी दफनाया जाए। उधर करुणानिधि को दफनाने के लिए मरीना बीज पर जेसीबी से गड्ढा खोदा जा रहा है। ऐसे में देश वासी जानना चाहते हैं कि हिन्दू होने के बावजूद भी कब्र में दफनाया क्यों जा रहा है। क्या वे मुसलमान थे?

बता दें कि द्रविड़ राजनीति की नींव ब्राह्मणवाद, धार्मिक कर्मकांड और आडंबरों के खिलाफ रखी गई थी। द्रविड़ राजनीति के अनुसार ब्राह्मणवाद और धार्मिक कर्मकांड मानवता के खिलाफ है। इससे जातीवाद और भेदभाव जन्म लेता है। ऐसे में द्रविड़ आंदोलन से जुड़े नेता सामान्य हिंदू परंपरा को नहीं मानते हैं। इसके चलते द्रविड़ नेताओं को दफनाया जाता है। इससे पहले एआईएडीएमके प्रमुख जयललिता को भी दफनाया गया था। उनका निधन साल 2017 में हुआ था। यही वजह है कि DMK प्रमुख एम. करुणानिधि को भी दफनाया जा रहा है।

बता दें कि तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि ने भी ब्राह्मणवाद और हिन्दू परंपरा के खिलाफ ही राजनीति शुरू की थी। वे अपने आप को नास्तिक मानते थे। उन्होंने अपनी जिन्दगी में कभी पूजा नहीं की। यहां तक कि उनके परिवार वाले भी हिन्दू परंपरा को नहीं मानते हैं। करुणानिधि द्रविड़ मूवमेंट से जुड़े हुए थे। उनका उदय भी द्रविड़ आंदोलन से ही हुआ था। इन्ही कारनों से एम. करुणानिधि को जलाने के बजाए दफनाया जा रहा है। अभी तक द्रविड़ आंदोलन से जुड़े, एमजी रामचंद्रन, जय ललिता, और अन्नादुरै को कब्र में दफनाया गया है।
.