राम मंदिर वहीं बनाएंगे जहां पहले था: मोहन भागवत

  By : Bhagya Sri Singh | April 16, 2018

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत राम मंदिर को लेकर अपने बयानों की वजह से सुर्ख़ियों में रहते हैं। एक बार फिर मोहन भागवत ने पालघर जिले के दहानू में विराट हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए राममंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है। भागवत ने कहा कि अगर हमने अयोध्या में राम लाला की जन्मभूमि पर मंदिर का निर्माण दुबारा नहीं किया तो हमारी संस्कृति की जड़ें समाप्त हो जाएंगी।

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, ‘राम लला के मंदिर को मुसलमानों ने नुकसान नहीं पहुंचाया है क्योंकि कोई भी भरतीय नागरिक इस तरह का नीच कृत्य नहीं कर सकता। भारत पर आक्रमण करने वाले विदेशी आक्रान्ताओं ने भारतीयों का मनोबल तोड़ने के लिए ऐसा किया था। ‘

भागवत ने कहा , ‘लेकिन आज हम आजाद हैं हमें उसे फिर से बनाने का अधिकार है जिसे नष्ट किया गया था , क्योंकि वे सिर्फ मंदिर नहीं थे बल्कि हमारी पहचान के प्रतीक थे। यदि राम मंदिर फिर से नहीं बनाया गया तो हमारी संस्कृति की जड़ें कट जाएंगी। इसमें कोई शक नहीं कि मंदिर वहीं बनाया जाएगा जहां वह पहले था। और इसके लिए किसी भी लड़ाई के लिए हम तैयार हैं।’

भागवत ने विपक्षी दलों पर तंज कसते हुए उन्हें देश के कई हिस्सों में हुई हालिया जातिगत हिंसा के लिए जिम्मेदार बताया। भागवत ने निशाना साधते हुए कहा, ‘चुनाव में हार की वजह से जिन सियासी पार्टियों की दुकानें बंद हो गईं वे अब लोगों को जाति के मुद्दों पर लड़ने के लिए उकसा रहे हैं।’ बता दें कि बाबरी मस्जिद विवाद की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में लंबित है।