दूल्हे के घर बग्गी से बारात लेकर पहुंची दूल्हन

  By : Bankatesh Kumar | February 24, 2018
patna, danapur, sneha, anil kumar yadav, buggy, barat, पटना ,दानापुर,स्नेहा,अनिल कुमार यादव , बग्गी ,बारात

नई दिल्ली। हमारे देश में ऐसे तो दूल्हे बरात लेकर शादी करने जाते हैं, लेकिन पटना में एक दुल्हन बरात लेकर दूल्हा के घर पहुंच गई। ओ भी गाजे- बाजे के साथ रथ पर सवार होकर। जब दुल्हन बराती लेकर निकली तो देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ गई। लोगों ने अपने कैमरे  से बरात के खूब वीडियो बनाए। वहीं कई बरातियों ने जमकर डांस किया। इस दौरान पूरा माहौल देखते ही बन रहा था।

जानकारी के मुताबिक यह वाकया पटना के दानापुर का है। जहां दुल्हन बैंड- बाजे के साथ बारात लेकर दुल्हन का घर पहुंची। दुल्हन का नाम स्नेहा है और वह असिस्टेंट बैंक मैनेजर है। मुंबई में पली-बढ़ी स्नेहा की सगाई मधुबनी के जयनगर में कोरैया के निवासी अनिल कुमार यादव से कुछ दिन पहले हुई थी। लेकिन बेटे जैसा दुलार-प्यार देने वाले उसके मां-बाप की तमन्ना थी कि उसकी बेटी की भी बेटे जैसी बरात निकले।

इसके लिए स्नेहा की पिता विनोद कुमार राय ने अपनी बेटी की बारत ले जाने की योजना बनाई। इसके लिए उन्होंने वो सारा कुछ किया जो एक लड़के की बारात ले जाने के लिए किया जाता है। पिता विनोद ने अपनी लालसा को पूरा करने के बरात में काफी सारे पैसे खर्च किए। उन्होंने बैंड-बाजा, खोड़ा-गाड़ी, और साथ में बग्गी भी भाड़ें पर ठीक किया। वर्षों पुरानी परंपरा को तोड़ दुल्हन जब बरात लेकर निकली तो पूरे परिवार व सगे-संबंधी गुलाबी रंग की पगड़ी सिर पर बांधे भोजपुरी व पंजाबी गाने पर जमकर ठुमके लगाए।

वहीं दुल्हन स्नेहा का कहना है कि उसकी मां ने उसे और इसकी दो बहनों को ऐसे संस्कार दिए हैं, जो समाज में आमतौर पर लड़कों को ही दिए जाते हैं। स्नेहा ने बताया कि तीनों बहनों ने खुद अपनी मंजिल तय की, लेकिन मां-बाप की सहमति से।  स्नेहा कहती हैं कि उनकी मां समाज के पुराने रीति-रिवाजों को नहीं मानती हैं। वहीं दूल्हे अनिल दुल्हन की बारात से काफी खुशी हैं।