दीवार के पीछे अखिलेश ने क्या छुपाया था: सिद्धार्थनाथ सिंह

  By : Bhagya Sri Singh | June 13, 2018

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को बंगला विवाद पर अपनी सफाई पेश की है। भारतीय जनता पार्टी के नेता सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश यादव पर पलटवार करते हुए कहा कि वो बताएं कि आख़िरकार दीवार के पीछे कौन सी चीज थी? आखिर अखिलेश ने दीवार के पीछे ऐसा क्या छुपा कर रखा था जिसे बाहर निकालना इतना जरूरी था? जब चोर की दाढ़ी में तिनका होता है तो वो बौखलाता ही है।

सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा, ‘अखिलेश यादव को जो शिक्षा मिली है, उन्हें उसी के मुताबिक़ सभ्य भाषा का प्रयोग करना चाहिए। लेकिन उन्होंने इसके उलट व्यवहार किया है।’

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कड़े शब्दों में कहा कि हम अखिलेश यादव के बयान की आलोचना करते हैं। साथ ही उन्होंने अखिलेश के इस बयान को ‘खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे’ की भी उपमा दे डाली।

अखिलेश यादव ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस के दौरान भारतीय जनता पार्टी को नूरपुर और कैराना उपचुनाव में हार जाने के कारण बंगले को लेकर दुश्मनी निकालने का आरोप लगाया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश के इस बयान की तुलना उलटा चोर कोतवाल को डांटे वाले मुहावरे से की।

अखिलेश ने ये भी कहा था कि अगर जांच रिपोर्ट में सरकारी पैसे से बंगले की साज-सज्जा की बात प्रमाणित हो जाये तो वह सारा सामान वापस करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने बंगले में अपने पैसे लगाकर जो साज-सज्जा करवाई थी उसे मैं अपने साथ वापस ले गया।’ सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश यादव के इस बयान पर कहा कि अगर आपने अपना पैसा लगाया है तो क्या आपने उसका इनकम टैक्स भरा।