विराट को सचिन की सलाह, ‘जो मन कहता है, वही करो’

  By : Bankatesh Kumar | August 8, 2018 12:27 pm

नई दिल्ली। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को सचिन तेंदुलकर ने दूसरे टेस्ट मैच से पहले सलाह दी है। सचिन ने विराट को कहा कि मैच में उन्हें अपने मन की सुननी चाहिए। दूसरा टेस्ट मैच लॉर्ड्स में खेला जाएगा। साथ ही मैच में कई बदलाव भी देखने को मिल सकते हैं।

बता दें कि 9 अगस्त से इंग्लैंड के लॉर्ड्स में दूसरा टेस्ट मैच खेला जाएगा। इस मैच से पहले सचिन ने कोहली को अपने मन की सुनने की सलाह दी है। साथ ही क्रिकइंफो ने तेंदुलकर के हवाले से लिखा, ‘मैं कहूंगा कि उन्हें वही करना चाहिए जो वह करते आ रहे हैं। वह शानदार काम कर रहे हैं इसलिए उन्हें वैसे ही खेलते रहना चाहिए। आस-पास क्या हो रहा है इस बारे में न सोचें और अपना ध्यान उस चीज पर लगाएं जो हासिल करना हैं।

सचिन ने कोहली से आराम से नहीं बैठने को भी कहा है। साथ ही उन्होंने अनुभव का हवाला देते हुए कहा कि आप कितने भी रन बना लो यह रन काफी नहीं होंगे। आपको ज्यादा रनों की जरूरत होती है और यही विराट के साथ है।

तेंदुलकर ने कहा, ‘जब आप संतुष्ट हो जाते हो तो आपका बुरा समय शुरू हो जाता है। इसलिए आप बल्लेबाज हो तो कभी संतुष्ट मत हो, क्योंकि गेंदबाज सिर्फ 10 विकेट ले सकता है। लेकिन बल्लेबाज को रन बनाने होते हैं इसलिए संतुष्ट नहीं होना चाहिए। साथ में खुश रहने की भी सलाह दी।’

उल्लेखनीय है कि भारत पहला टेस्ट मैच 31 रनों से हार गया था। इस मैच में विराट के अलावा किसी भी बल्लेबाज की बल्लेबाजी नहीं चली थी। इसी को ध्यान में रखते हुए टीम में दूसरे मैच में कई बदलाव देखने को मिल सकते हैं। इस मैच में शिखर धवन की जगह चेतेश्वर पुजारा को मौका दिया जा सकता है। क्योंकि इस मैच में शिखर ने बल्लेबाजी के साथ-साथ क्षेत्ररक्षण में भी निराश किया था। धवन ने कई कैच भी छोड़े थे। धवन को टीम से बाहर किया गया, तो फिर दूसरे ओपनर की भूमिका लोकेश राहुल निभाएंगे और पुजारा नंबर तीन पर बल्लेबाजी करेंगे।

इसके अलावा अजिंक्य रहाणे का बल्ला पिछले काफी समय से खामोश है, क्योंकि राहणे ने अपना पिछला शतक एक साल पहले अगस्त 2017 में श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में बनाया था। इसके बाद से उनका बल्ला खामोश है। तब से वो टीम इंडिया की उम्मीदों पर वो खरे नहीं उतर पा रहे हैं। ऐसे में उनकी जगह करुण नायर को मौका दिया जा सकता है। लेकिन ऐसा होने की संभावना न के बराबर ही लगती है। क्योंकि रहाणे ने पिछले दौरे पर इंग्लैंड में बेहतरीव प्रदर्शन किया था।