IND vs ENG: टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच आज

  By : Bankatesh Kumar | August 18, 2018 3:03 pm

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्ट शनिवार को  ट्रैंटब्रिज़ में खेला जा रहा है। इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया है। इस मैच में भारत की तरफ से टीम में कई बदलाव किए गए हैं। क्योंकि भारत की तरफ पहले दो टेस्ट मैच में कई खिलाड़ियों का खराब प्रर्दशन रहा था। भारत को दोनों टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि इस मैदान में भी भारत का अच्छा प्रर्दशन नहीं रहा है।

बता दें कि इंग्लैंड में खेले जा रहे पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत 2-0 से पीछे है। भारत को पहले टेस्ट मैच में 31 रन और दूसरे में पारी और 159 रन से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा था। इन मैचों में भारतीय बल्लेबाजों ने अपने प्रर्दशन से प्रशंसकों को काफी निराश किया था। हालांकि पहले मैच में कप्तान कोहली का बल्ला चला था। इस मैच को भारतीय टीम जीत से कुछ कदम दूर रह गई थी।

दूसरे मैच में भारत ने अपनी बल्लेबाजी में बदलाव किए थे। जिसमें शिखर धवन की जगह चेतेश्वर पुजारा और गेंदबाजी में कुलदीप यादव को टीम में खिलाया गया था। लेकिन ये दोनों खिलाड़ी भी मैच में कुछ खास नहीं कर सके और दूसरे मैच में भी टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा। अब भारतीय टीम तीसरे मैच में बदलाव के मूड में दिख रही है।

टीम हुए ये बदलाव

इस मैच में शिखर धवन को फिर से जगह मिली है। क्योंकि उन्हें दूसरे मैच में आराम दिया गया था। इसके अलावा टीम में मुरली विजय की जगह रिषभ पंत को शामिल किया गया है। साथ ही  लॉ‌र्ड्स में बारिश के बावजूद चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को खिलाने के लिए आलोचना झेलने के बाद टीम में जसप्रीत बुमराह को शामिल किया गया है। बुमराह अनफिट होने के कारण पिछले दो मैच नहीं खेल सके थे।

 

इस मैदान पर भारत का रिकॉर्ड

भारत का ट्रैंटब्रिज मैदान में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में भी खराब प्रर्दशन रहा है। इस मैदान में भारत ने पहला टेस्ट मैच 1959 में खेला था, जिसमें उसे पारी और 59 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। भारत ने यहां अबतक छह टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से भारत को सिर्फ एक में ही जीत मिली है। जबकि दो में हार का सामना करना पड़ा है। साथ ही तीन टेस्ट ड्रॉ रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ इंग्लैंड ने इस मैदान पर 61 टेस्ट खेले हैं, जिसमें उसे 22 में जीत जबकि 17 में हार का सामना करना पड़ा है। साथ ही 22 टेस्ट मैच ड्रॉ रहे हैं। अब यह देखना यह दिलचस्प होगा कि भारतीय टीम इस मैच को जीत कर सीरीज में बनी रहेगी या हार कर पांच टेस्ट मैचों की सीरीज को गवां देगी