साहित्य

Kazuo Ishiguro

जापान में जन्मे ब्रिटिश लेखक काजुओ इशिगुरो को साहित्य का नोबेल पुरस्कार

स्टॉकहोम। साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार का ऐलान हो चुका है। ‘द रिमेन्स ऑफ द डे’ उपन्यास के लिए मशहूर ब्रिटिश लेखक काजुओ इशिगुरो को इस वर्ष के साहित्य के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। स्वीडिश अकादमी ने यह जानकारी दी। https://twitter.com/NobelPrize/status/915894552380215296 अकादमी ने अपनी घोषणा में कहा…

और पढ़े
ओणम पर्व को और भी शानदार बना देगी ये रेसिपी

ओणम पर्व को और भी शानदार बना देगी ये रेसिपी

राजा महाबली के सम्मान में ओणम को हर साल अगस्त और सितंबर में मनाया जाता है। मलयाली लोग इस पर्व को बड़े धूमधाम और कई तरह के पकवान के साथ मनाते हैं। तो आइये आज हम आपको ऐसी रेसिपी के बारे में बताते हैं जो इस त्यौहार के नजरिए से…

और पढ़े

मोदी जी की कविताओं का संग्रह : साक्षी भाव

डिजिटल युग की शुरुवात हो चुकी हैं.इसी घटना क्रम में डिजिटल क्रांति को आगे ले जाते हुए प्रधानमंत्री मोदी जी ने सोमवार 21 मार्च 2017 को विश्व कविता दिवस पर अपनी कविताओं के संग्रह साक्षी भाव का लोकार्पण किया। मोदीजी की कविताओं के पाठको के लिए यह एक विशेष उपहार…

और पढ़े

इंटरनेट के जमाने में भी पाक कला की किताबें परोस रही हैं आपकी फेवरेट डिश

'गाजर का हलवा' और 'बटर चिकन' जैसे डिश बनाने की कोशिश करने के लिए क्या आप पाक कला की किताबों के पन्ने पलटना पसंद करेंगे या उसका ऑनलाइन वीडियो देखना चाहेंगे? आज के समय में आपके सारे सवालों का जवाब ऑनलाइन सर्च इंजनों के पास मौजूद हैं, बस आप एक…

और पढ़े

भारत में घरेलू नौकरों की हालत को बयां करती है किताब ‘मेड इन इंडिया’

राष्ट्रीय राजधानी से सटे नोएडा में एक उच्च वर्गीय सोसाइटी में घरेलू नौकरों को लेकर उपजे विवाद के बीच तृप्ति लाहिड़ी की किताब 'मेड इन इंडिया' देश में घरेलू नौकरों से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर संवेदनशील तरीके से सोचने पर विवश करती है. लाहिड़ी अपनी इस पुस्तक में कहती हैं…

और पढ़े

“मैं पाकिस्तान से हूं और मैं एक महिला हूं और लोग मानते हैं कि मैं एक राजनैतिक रोमांचकारी लिखने में सक्षम नहीं हूं”

कराची साहित्य महोत्सव में इस साल फरवरी में पाकिस्तानी लेखक साबना जवेरी की किताब नोबडी कल्ले हर् की शुरूआत हुई थी। इसे वर्ष का सबसे बड़ा साहित्यिक अभिवादन कहा जाता है। किताब के आस-पास की चर्चा एक क्रैस्सेन्डो तक बनाई गई थी क्योंकि इसे बेनजीर भुट्टो के जीवन से प्रेरित…

और पढ़े
Close