यहां सात घंटों का होता एक साल

  By : Bankatesh Kumar | November 28, 2017 2:07 pm

नई दिल्ली। वैज्ञानिकों ने एक अजूबे ग्रह की  है। इसे अंतरिक्ष का सबसे तेज प्लेनिट का दर्जा दिया गया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस ग्रह पर 365 दिनों को एक साल नहीं होता है। यहां तो महज सात घंटे में ही साल बदल जाते हैं। वैज्ञानिक ने डे-टू-इयर के रेशो से पता लगाया है कि यहां 7 घंटे का एक साल होगा। ऐसा कहा जा रहा है कि यह ग्रह धरती से 5 गुना बड़ा है। इसके ज्यादातर भाग में भारी पत्थर हैं। इस अजूबे ग्रह की खोज केपलर टेलिस्कोप के द्वारा किया गया है। केपलर को प्लेनिट हंटिंग टेलिस्कोप भी कहा जाता है। इसके माध्यम से अबतक 2300 ग्रहों की खोज हो चुकी है।

विज्ञान की भाषा में इस अदभूत प्लेनिट का दो नाम हैं। पहला नाम EPIC 246393474 b है तो दूसरा नाम C12_3474 b भी रखा गया है। इस ग्रह के ऑर्बिट पीरियड  ब्रह्माण्ड के अन्य ग्रहों के अपेक्षा बहुत तेज है। Phys.org की रिपोर्ट के मुताबिक इस प्लेनिट का ऑर्बिट पीरियड केवल 6.7 घंटों के लिए ही होता है। यही वजह है कि इस ग्रह पर सात घंटों के अंदर ही एक साल पूरा हो जाता है।

जानकारी के अनुसार इस ग्रह की दूरी धरती से ज्यादा नहीं है। केपलर ने इसे पृथ्वी के नजदीक ही खोज है। वैज्ञानिकों ने अभी तक मालूम नहीं कर पाया है कि इस ग्रह पर कितने घंटे का एक दिन होता है। वहीं स्टेलर रेडिएशन के चलते यहां का वातावरण पूरी तरह खराब हो चुका है। इस ग्रह में भारी मात्रा में पत्थर है जिसमें 70 प्रतिशत आयरल होने की संभावना जताई जा रही है।