जब इस शहर में रेप पीड़ितों के कपड़ों की लगी प्रदर्शनी

  By : Team Khabare | January 13, 2018

ब्रसेल्स। बलात्कार एक ऐसा घिनौना कृत्य है जिसकी जितनी कड़ी सजा मुकर्रर की जाये वो कम है। दुनिया भर में हर रोज न जाने कितने मासूमों को बलात्कार के इस पाप के पैरों तले कुचला जाता है। वारदात हो जाने के बाद तमाम तरह की दलीलें दी जाती है कि, कुछ लोग तो ये भी कहते हैं कि लड़की के भड़काउ कपडों के वजह से उसके साथ बलात्कार हुआ है।

बस इसी मिथ्या को तोड़ने के लिए बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स के मोलेनबीक जिले में एक अनूठी प्रदर्शनी लगाई गई। इस प्रदर्शनी में रेप पीड़ितों के उन कपड़ों को दुनिया के सामने पेश किया गया जिन कपड़ों को पीड़ितों ने वारदात के वक्त पहना था। देखने में ये कपड़े बेहद ही साधारण है, उन कपड़ों को देखकर कोई नहीं कह सकता है कि वो कपड़े उत्तेजक है।

या फिर कोई दुराचारी उन कपड़ों में किसी लड़की को देखे तो वो हवस के उत्तेजना में ऐसे घिनौने कृत्य को अंजाम दे। इस प्रदर्शनी को ‘इज़ इट माय फॉल्ट नाम दिया गया है। यानी इसका शिर्षक साफ तौर पर इस बात को बयान करता है कि, क्या ये मेरी गलती है। इन कपड़ों में पायजाम, टीशर्ट और सामान्य तौर पहने जाने वाले कपड़े शामिल है।

आपको बता दें कि, इस अनूठे प्रदर्शनी का आयोजन बलात्कार पीड़ित सहायता समूह सीएडब्ल्यू ईस्ट ब्राबेंट की ओर से किया गया था। ये आयोजन अपने आप में एक अनूठा प्रयोग था। जिसके माध्यम से दुनिया को ये बताने की कोशिश की गई है कि बलात्कार का जिम्मेदार महिलाओं के पकड़े नहीं है। बल्कि वो घिनौनी सोच है जिससे उपर उठकर इंसान सोच नहीं सकता है। ये एक विकृत मानसिकता या फिर अपराधिक प्रवृति है बस। इन कपड़ों को पीड़ितों ने खुद मुहैया कराया था।