अटल जी के सम्मान में मॉरीशस में झुका रहेगा राष्ट्रध्वज

  By : Bhagya Sri Singh | August 17, 2018 6:23 pm
atal bihari vajpayee, mauritius flag, tribute to atal bihari

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की ख्याति भारत में ही नहीं बल्कि अन्य राष्ट्रों में भी फैली थी। उसके हंसमुख और सरल स्वभाव के चलते वो हर किसी को प्रिय थे। अटल जी की अंतिम यात्रा पर आज कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। मॉरीशस सरकार ने अटल जी को श्रद्धांजलि देने के लिए और उनके प्रति सम्मान प्रकट करते हुए देश की सभी राजकीय इमारतों के राष्ट्रीय ध्वज आधे दिन तक झुके रहने के आदेश जारी किया। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवीण कुमार जगन्नाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के देहांत पर दुःख व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवीण कुमार जगन्नाथ ने वाजपेयी जी के निधन पर पीएम मोदी को शोक संदेश लिखकर कहा कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बारे में जानकर मुझे बेहद अफ़सोस हुआ और व्यक्तिगत रूप से मुझे काफी झटका लगा है। मैं श्री अटल बिहारी वाजपेयी के परिवार के संवेदना प्रकट करता हूं।

मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवीण कुमार जगन्नाथ ने कहा कि वाजपेयी जी ने अपने साहसिक नेतृत्व से और आम आदमी के लिए अपने स्नेह और सहानुभूति के जरिए भारत के भविष्य को आकार दिया। आज, जब भारत वैश्विक स्तर पर तरक्की और विकास के प्रतीक के रूप में चमक रहा है, हम वाजपेयी के मजबूत और सक्षम नेतृत्व को भुला नहीं सकते।

बता दें कि मॉरीशस में स्वामी विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में 18 अगस्त से लेकर 20 अगस्त तक तीन दिवसीय 11वां विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन शुरू होने जा रहा है। इस पर बात करते हुए प्रधानमंत्री जगन्नाथ ने कहा कि जब मॉरीशस 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है, हम हिन्दी भाषा में वाजपेयी की महारत को याद कर रहे हैं, जो उनके भाषणों और कविताओं में बखूबी जाहिर हुई हैअटल बिहारी वाजपेयी जी का मॉरीशस के लोगों के गहरा लगाव उस वक्त समझ आया था जब मार्च 2000 में हुए नेशनल डे सेलेब्रेशन में उन्होंने चीफ गेस्ट के रूप में शिरकत की थी। उनके शासनकाल में मॉरीशस और भारत के संबंध काफी प्रगाढ़ हुए थे।