फ्लाइट में बच्चे के रोने पर भारतीय दंपत्ति को नीचे उतारा

  By : Bankatesh Kumar | August 9, 2018

नई दिल्ली। ब्रिटिश एयरवेज विमानन कंपनी पर एक भारतीय परिवार को कथित तौर पर फ्लाइट से उतारने का आरोप लगा है। पीड़ित ने बताया कि उनका तीन साल का बच्चा रो रहा था। जिसके कारण विमान अधिकारियों ने उन्हें नीचे उतार दिया। फ्लाइट टेक ऑफ करते समय बच्चे की मां उसे चुप करवाने की कोशिश कर रही थीं। वहीं पास बैठे केबिन क्रू के एक सदस्य ने मासूम को डरा दिया। जिसके बाद बच्चा और जोर से रोने लगा। जिसके बाद विमान टर्मिनल पर वापस आया और भारतीय परिवार को उनके पीछे बैठे दूसरे भारतीय परिवार के साथ नीचे उतार दिया।

बात दें कि यह कथित घटना ब्रिटिश एयरवेज कंपनी की लंदन से बर्लिन जाने वाली फ्लाइट (बीए 8495) में 23 जुलाई की है। यह घटना 1985 बैच के इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज अधिकारी के परिवार के साथ घटी, जो वर्तमान में सड़क मंत्रालय में तैनात हैं। संयुक्त सचिव पद के अधिकारी ने इसकी शिकायत विमानन मंत्री सुरेश प्रभु से की है। पीड़ित परिवार ने एयरलाइन पर निरादर और नस्लीय भेदभाव करने का आरोप लगाया है। शिकायत के बाद ब्रिटिश एयरवेज के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम इस तरह के दावों को बहुत ही गंभीरता से लेते हैं और इसे किसी भी तरह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हमने पूरी तरह से जांच शुरू कर दी है और ग्राहक के साथ सीधे संपर्क में हैं।’

सुरेश प्रभू को पत्र में पीड़ित ने लिखा कि मेरी पत्नी ने सीट बेल्ट लगाने की घोषणा के बाद तीन साल के बच्चे को अलग सीट में बिठाकर सीट बेल्ट बांधी। जिसके बाद वह रोने लगा मेरी पत्नी ने उसे चुप कराने के लिए गोद में उठा लिया। एक पुरुष क्रू सदस्य हमारे पास आया और चिल्लाने लगा। इससे मेरा बेटा डर गया और रोने लगा। हमारे पीछे बैठे दूसरे भारतीय परिवार ने बेटे को चुप करवाने के लिए बिस्कुट दिए। मेरी पत्नी ने दोबारा बेटे को उसकी सीट पर बैठाते हुए सीट बेल्ट बांधी जबकि वह लगातार रो रहा था। बच्चे के चुप न होने के बाद क्रू का वहीं सदस्य उनके पास आय़ा और बच्चे को डांटा साथ ही डराते हुए बोला की अगर चुप नहीं हुए तो खिड़की से नीचे फेक दूंगा। बच्चे के चुप न होने पर फ्लाइट वापस आयी और पीड़ित परिवार के साथ-साथ पीछे बैठे एक और भारतीय परिवार को नींचे उतार दिया गया।