पाक आतंकी संगठनों पर लगेगा बैन, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

  By : Bankatesh Kumar | February 13, 2018
pakistan, president mamnoon hussain, ata president, lashkar-e-taiba, al-qaeda, jamaat-ud-dawa, पाकिस्‍तान, राष्ट्रपति ममनून हुसैन , एटीए अध्यदेश, लश्कर-ए-तैयबा, अल-कायदा, जमात-उद-दावा,

नई दिल्ली। पाकिस्‍तानी आतंकी और मुम्बई हमले का मास्टर माइंड हाफिज सईद को बहुत बड़ा झटका लगा है। उसके संगठन जमात-उद-दावा को आतंकी संगठन घोषित कर दिया गया है। पाक राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी कानून में बदलाव संबंधी अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। इस अध्यादेश का मुख्य उदेश्य संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित व्यक्तियों और संगठनों पर लगाम लगाना है। अब कानून बन जाने के बाद पाकिस्तान सरकार लश्कर-ए-तैयबा, अल-कायदा जमात-उद-दावा (जेयूडी) और तालिबान संगठनों पर लगाम लगाएगा। अब इन संगठनों के ऑफिस और अकाउंट बंद किए जाएंगे।

बता दें कि अब तक पाकिस्तान इन संगठनों पर महज दिखावे की कार्रवाई कर रहा था। जमात उद दावा जैसे संगठनों को सिर्फ आतंकी सूची में रखा गया था। लेकिन अब अध्‍यादेश पारित हो जाने के बाद जमात उद दावा घोषित तौर पर आतंकी संगठन हो गया है। वहीं जानकारों का कहना है कि इस अध्यादेश के पीछे पेरिस में होने वाली फाइनेंसियल एक्‍शन टास्‍क फोर्स (एफएटीएफ) की बैठक है। क्योंकि बैठक में मनी लॉन्डरिंग जैसे मामलों को लेकर अलग-अलग देशों की निगरानी होती है। वहीं विदेश नीति के विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तान ख़ुद को पाक साफ़ दिखाने के लिए एक छलावा कर रहा है। हो सकता है पाकिस्तान अध्‍यादेश कुछ समय बाद बदल दे।

पाकिस्तानी समाचार पत्र द ट्रिब्यून एक्सप्रेस के अनुसार, राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी अथॉरिटी ने अध्यादेश आतंकवाद निरोधक अधिनियम (एटीए) को पुष्टि की है। गृह, वित्त और विदेश मंत्रालय तथा काउंटर फाइनेंसिंग ऑफ टेररिज्म विंग इस मामले पर काम कर रहे हैं। राष्ट्रपति कार्यालय के अधिकारी ने भी इसकी पुष्टि की है लेकिन ज्यादा जानकारी साझा करने से इनकार कर दिया।