छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का आतंक, पांच ट्रक को किया आग के हवाले

  By : Bankatesh Kumar | August 10, 2018 5:10 pm

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ से नक्सलियों के आतंक की एक बड़ी खबर आई है। पिछले दो दिन में नक्सलियों की ये तीसरी वारदात है। जिसमें नक्सलियों ने गुरुवार रात में बचेली बैलाडीला ट्रक ओनर्स एसोसिएशन कार्यालय के पास खड़े पांच ट्रकों में आग लगा दी। माओवादियों की इस हिंसा के बाद आसपास के गांवों में दहशत का माहौल है। हालांकि ट्रकों पर आगजनी करते समय उनमें कोई मौजूद नहीं था। नक्सलियों ने इस घटना की जिम्मेदारी लेते हुए एक चिट्ठ्ठी भी छोड़ी है। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी है। साथ ही हादसे के जिम्मेदार माओवादियों की तलाश जारी है।

थाना बचेली के प्रधान आरक्षक एस.आर. गावड़े ने बताया कि नक्सलियों ने एसोसिएशन कार्यलय के पास सड़क किनारे खड़े ट्रकों पर आगजनी की। साथ ही रात करीब 2 बजे घटना को अंजाम दिया। मओवादियों ने हिंसा के बाद एक पर्चा भी फेंका, जिसमें उन्होंने आगजनी की घटना को अंजाम देने की बात कबूली है। आसपास के लोगों ने बताया कि रात में नक्सलियों का एक दल हथियारों से लैस होकर घटना स्थल पर आया था। उनमें से कुछ लोग सड़क के दोनों किनारों पर नजर रखने का काम कर रहे थे। बाकि अन्य लोगों ने ट्रक की तलाशी लेनी शुरु कर दी। ट्रक में कुछ न मिलने पर आक्रोशित होकर नक्सलियों ने उनपर तेल छिड़ककर आग लगा दी। देखते ही देखते पांचो ट्रक को आग ने अपनी आगोश में ले लिया। कुछ देर बाद नक्सली वहां से चले गये। उनके इस दहशत भरे कारनामें को देखकर लोगो में डर का माहौल बना हुआ है।

नक्सलियों द्वारा फेका गया पर्चा बारिश के पानी से पूरी तरह गीला हो चुका है। उसे सूखाकर उसकी जांच की जाएगी। पर्चे में घटना को अंजाम देने वाले जैनी, चंदरु, सुगना, शांति, भीमे, मासे और बुधरी कुछ नक्सलियों के नाम लिखे है। जिसके बाद पुलिस इन सब की तलाश में जुट गई है। यह पर्चा नक्सल संगठन के भैरमगढ़ एरिया कमेटी के सचिव सुमित्रा ने जारी किया है।

गौरतलब है कि पिछले दो दिन में यह तीसरी नक्सली वारदात है। इससे पहले नक्सलियों ने धुरली भांसी थानाक्षेत्र में दो बस और एक ट्रक को आग के हवाले किया था। इस तरह की हिंसक घटनाओं को देखकर आसपास के इलाकों में दहशत का माहौल बना हुआ है। प्रसाशन नक्सलियों की इस हिंसा को देखकर प्रभावी क्षेत्रों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर रही हैं। साथ ही नक्सलियों पर नकेल कसने के लिए चलाया गया नक्सल विरोधी अभियान तेजी से चलाया जा रहा है। उनके ठिकानों पर छापामारी करके सफाया किया जा रहा है।