अपना-पराया, ऊंच-नीच से रहें दूर- मोहन भागवत

  By : Bhagya Sri Singh | January 5, 2018

नई दिल्ली। महाकाल की नगरी उज्जैन में एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने एक बेहद अहम् बयान दिया है। भागवत ने कहा, कि समस्त भारतवासियों को सामजिक भेदभाव के खिलाफ एकजुट होगा होगा। देश हित में सभी नागरिक बराबर हैं इसलिए तेरा-मेरा वाली भावना जनमानस से दूर करनी होगी।

कार्यक्रम में भारत माता की 16 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करने के बाद भागवत ने कहा कि हम सबको इस बात को स्वीकार करना होगा क्योंकि हम खुद को मातृभूमि की सेवा में समर्पित करते हैं। हमें सभी तरह के भेदभाव से भी खुद को दूर रखना होगा- मेरा, तुम्हारा, ऊंचा-नीचा जैसी मनोभावनाओं से किनारा करना होगा। हमें सभी से बराबरी का व्यवहार करना होगा।

भगवत ने वसुधैव कुटुम्बकम के आदर्श के तरह सभी भारतीय नागरिकों को भाई और बहन की तरह सौहार्द के साथ रहने का संदेश किया। आरएसएस रामुख ने कहा कि जहां सद्भाव रहता है वहां क्रोध दूर रहता है। भागवत ने कहा कि हमें हमेशा भारत माता के ‘अखण्ड’ रूप में समर्पित होना चाहिए।

गौरतलब हो कि भागवत ने सामाजिक एकता और समानता का बयान ऐसे समय में दिया है जब समूचा महाराष्ट्र भीमा-कोरेगांव में हुई हिंसा की आग में धधक रहा है। पुणे से शुरू हुई जातीय हिंसा की लपटें अब अन्य राज्यों तक भी पहुँच रही हैं।