SC ने की इंदु मल्होत्रा के नाम की सिफारिश, वकील से सीधे बनेंगी जज

  By : Bhagya Sri Singh | January 12, 2018 1:26 pm
indu malhotra

नई दिल्ली। सुप्रीमकोर्ट की कोलेजियम ने वरिष्ठ एडवोकेट इंदू मल्होत्रा को जज नियुक्त करने की सिफारिश केंद्र सरकार से की है। यदि केंद्र सरकार इस प्रस्ताव पर अपनी मंजूरी दे देता है तो देश के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब कोई महिला वकील (इंदू मल्होत्रा) सीधे सुप्रीम कोर्ट में जज बनेंगी। वर्तमान में सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस आर. भानुमती इकलौती महिला जज हैं।

इंदु के नाम की सिफारिश सुप्रीमकोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस चेलामेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसफ की कोलेजियम ने की है। मौजूदा समय में सुप्रीमकोर्ट में जजों के कुल पद हैं जिनमें से 6 खाली हैं।

सूत्रों के मुताबिक़ सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने सरकार से इंदु के अलावा उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस के. एम. जोसफ के नाम की भी अनुशंसा की है। बता दें कि आजादी के बाद से अभी तक सुप्रीम कोर्ट में सिर्फ छह महिला जज हुई हैं।

कोलेजियम ने इसके अलावा इलाहाबाद हाईकोर्ट के अतिरिक्त जज जस्टिस शिव कुमार सिंह को स्थाई करने की भी अनुशंषा की है। लेकिन शिव कुमार सिंह का कार्यकाल समाप्त हो रहा था इसलिए फिलहाल उनके बारे में सिफारिश की गई है। इसके अलावा कोलेजियम अन्य प्रस्तावों पर भी विचार विमर्श करेगी।

कौन हैं इंदु मल्होत्रा:

इंदू मल्होत्रा 2007 में सर्वोच्च न्यायालय की वरिष्ठ वकील बनी थीं। सुप्रीमकोर्ट में वरिष्ठ वकील बनने वाली वह दूसरी महिला हैं। उसने पहले लीला सेठ को सीनियर अधिवक्ता बनाया गया था। अब इंदु वकील से सीधे SC की जज बनने जा रही हैं। अब तक हाईकोर्ट में उन्हें कोई नियुक्ति नहीं मिली है।

कौन हैं जस्टिस केएम जोसेफ:

जस्टिस केएम जोसेफ वर्तमान में उत्तराखंड हाईकोर्ट के जज हैं। वे उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन का आदेश रद्द करने वाली पीठ का हिस्सा थे। उसके बाद उनका स्थानांतरण काफी सुर्ख़ियों में रहा लेकिन उत्तराखंड से उनका स्थानांतरण नहीं हुआ।