कनॉट प्लेस दुनिया का नौवां सबसे महंगा कार्यालय स्थल

  By : Bankatesh Kumar | July 11, 2018
delhi, connaught place, cbre, mumbai, 9th expansive official place, दिल्ली, कनॉट प्लेस, सीबीआरई,मुंबई, नौवाीं मंहगी जगह

नई दिल्ली। दिल्ली का कनॉट प्लेस दुनिया की सबसे महंगी जगहों में नौवें स्थान पर आ गया है। इससे पहले साल 2017 में इसका विश्व में10वां स्थान था। खासकर कार्यालय खोलने के लिए भारत में कनॉट प्लेस सबसे महंगी जगह है। यहां पर एक वर्गफुट क्षेत्रफल का औसत वार्षिक किराया 153 डॉलर यानी करीब 10,527 रुपये तक पहुंच गया है। सीबीआरई की सूची के अनुसार पिछले साल इस सूची में 16 वें स्थान पर रहने वाला मुंबई का बांद्रा कुर्ला कांप्लेक्स अब 26 वें स्थान पर है। यहां का औसत वार्षिक किराया 96.51 डॉलर प्रति वर्गफुट है। इसी तरह महानगर के ही नरीमन पॉइंट स्थित सीबीडी का स्थान भी घटकर 37वें स्थान पर पहुंच गया है।

बता दें कि पिछले साल सीबीडी 30 वें स्थान पर था। यहां का सलाना किराया 72.80 डॉलर प्रति वर्गफुट है। सीबीआरई की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली ने इस सूची में एक स्थान का छलांग लगाया है। पछिले साल कनॉट प्लेस जहां 10वें स्थाल पर था वह इस साल 9वें स्थान पर पहुंच गया है। इसकी जानकारी सीबीआरई ने ग्लोबल प्राइम ऑफिस ऑक्युपेंसी कॉस्ट सर्वे जारी कर दी है। इस लागत में जगह का किराया, स्थानीय कर और सेवा शुल्क सहित कई तरह के कर शामिल हैं। संस्था के चेयरमैन अंशुमन ने कहा कि सीपी दिल्ली एक प्रमुख बाजार है। दिल्ली घुमने आने वाले लोग यहां पर स्पेशली शोपिंग करने आते हैं।

जानकारी के मुताबिक सीबीआरई की सूची में पहले स्थान पर हांगकांग का सेंट्रल मार्केट है। यहां का सलाना किराया 306.57 डॉलर प्रति वर्गफुट है। इसके बाद दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवे स्थान पर क्रमशः लेंदन का वेस्टएंड , बीजिंग का फाइनेंस स्ट्रीट, हांगकांग का कोलून व बीजिंग का सीबीडी है। वहीं न्यूयॉर्क का मिडटाउन-मैनहैटन छठे स्थान पर है जहां वार्षिक किराया 183.78 डॉलर प्रति वर्गफुट है।