काला जादू: महाराष्ट्र में 11 लोगों को उम्रकैद

  By : Team Khabare | December 7, 2017

नई दिल्ली। काला जादू का नाम आते ही बंगाल राज्य की याद आ जाती है। क्योंकि अधिकतर बंगाल में ही काला जादू का ज्यादा उपयोग होता है। लेकिन बता दें कि सबसे ज्यादा काला जादू का प्रयोग अफ्रीका में होता है। अफ्रीका का काला जादू ‘वूडु’ के नाम से भी जाना जाता है। इस वूडु जादू में तांत्रिक जानवरों या फिर पुतले का इस्तेमाल करते है। काला जादू कई राज्यों में बड़े ही गुपचुप तरीके से बदस्तूर जारी है। इसका पता तब चलता है जब कहीं पर इसकी वजह से किसी मृत्यु हो जाती है। ठीक इसी तरह का मामला महाराष्ट्र के नासिक से सामने आया था। इसमें कुछ लोगों ने दो बहनों को मौत के घाट उतार दिया था। पढ़ें…

दो बहनों की हत्या के मामले में गुरुवार को नासिक की एक अदालत ने महाराष्ट्र के 11 लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। महाराष्ट्र में अंध विश्वास और काला जादू विरोध अधिनियम के तहत इन लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। आरोपियों ने कोर्ट में अपनी सफाई में कहा, हमनें जिन दो बहनों को मारा है उनमें बुरी आत्मा का वास था। इससे इलाके में भय का माहौल था। बता दें कि इस अधिनियम के तहत पहली बार किसी को दोषी करार घोषित किया गया है। इस मामले में जिला एवं सत्र न्यायमूर्ति यूएम नंदेश्वर ने भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत फैसला सुनाया है।

इस मामले पर सरकारी वकील अजय मीसार ने बताया महाराष्ट्र में पहली बार मनुष्य की बलि और अन्य अमानवीय आदि तरीकों और काला जादू रोकथाम और उन्मूलन अधिनियम के तहत सजा सुनाई गई है।

सरकारी वकील अजय मीसार का कहना है कि इस अधिनियम के तहत उन लोगों को करीब 5 से 10 साल की सजा सुनाई गई है। इन आरोपियों ने आत्मा भगाने के चक्कर में इन दोनों बहनों को इतना बुरा पीटा की उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी।