‘टेड टॉक्स इंडिया नई सोच’ के मंच पर गुरमेहर कौर

  By : Priyambada | December 13, 2017

नई दिल्ली:  गुरमेहर कौर को कई सारे नाम दिये गये हैं, उनमें से सबसे अधिक चर्चित और पसंद किये जाने वाले नामों में से एक है ‘फ्री स्पीच वॉरियर’, अब वो ‘टेड टॉक्स इंडिया नई सोच’ में पहली बार अपनी बात रखेंगी।  इस शो पर वो अपने संघर्ष के बारे में खुलकर बतायेंगी, जब उन्हें स्टूडेंट्स के बीच शांति और समानता का संदेश देने के लिये दोस्तों और राजनेताओं द्वारा अलग-थलग कर दिया गया था।  उस समय उनके दिल पर बीती उस पीड़ा के बारे में बतायेंगी।
गुरमेहर उन लोगों में से नहीं हैं जो चुपचाप बैठ जाये और दूसरों को मनमानी करने दें। उनके पास बोलने की ताकत है और उन्होंने खुलकर अपनी बात कही।  उन्होंने कहा, ‘‘आपको इस बात पर हैरानी हुई होगी कि इतनी छोटी लड़की के प्यार और हिंसा को रोकने की बातों पर इतना हंगामा कैसे हो सकता है।

दिल्ली विश्वविद्यालय में साहित्य की पढ़ाई कर रही एक 20 साल की लड़की जो आगे कानून की पढ़ाई करना चाहती है, जिस संघर्ष से गुजरी है उसके साथी इस बात को कभी नहीं समझ सकते। गुरमेहर के लिये कई ऐसी स्थितियां आई जब वो टूटने लगी थी और जब कुछ लोग सहानूभूति में साथ खड़े हुए, गुरमेहर ने  बताया ‘मैंने विपासना सेंटर जाने का निर्णय लिया। ये दूसरी सबसे अच्छी चीज थी जो मैंने की।’’

उन्होंने ने बताया की  वो अपने माहौल से कितना डरी हुई हैं, अपने दोस्तों और परिवार के पास लौटना कितना डरावना है।  गुरमेहर ने याद करते हुए बताया कि , ‘‘पहले मैं भी एक आम लड़की की तरह थी, जो वीकेंड की प्लानिंग के बारे में सोचती रहती थी, दोस्तों के साथ फिल्म देखना या फिर लोधी गार्डन जाना है और अगले दिन ऐसा था कि मीडिया मेरे पीछे पड़ गई। मेरा फोन हर तरह की अश्लील बातों से भर गया था। अगले दिन मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मेरा जीवन ऐसा हो जायेगा।’’