चीनी कर्ज के शिकंजे में फंसते छोटे देश

By Rahul Tripathi Mar 21, 2018 1:50 pm
If you like it share it :

राहुल त्रिपाठी

चीन आज विश्व की बहुत बड़ी आर्थिक महाशक्ति बन गया है। इस समय यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश है, जिसकी कुल 23 ट्रलिएन डॉलर की परिसम्पत्ति है। करीब 30 चीनी कम्पनियां ऐसी हैं जो विश्व फार्चून की लिस्ट में शामिल हैं। चीन की आर्थिक समृद्धि उसको आर्थिक साम्राज्यवाद की ओर ले जा रहा है। अपनी आर्थिक समृद्धि के बल पर चीन छोटे देशों को सस्ते लोन के दु:चक्र में फंसाकर उनकी जमीनों को हड़प रहा है। अर्थात चीन आज अपनी आर्थिक समृद्धि को आर्थिक औपनिवेश बढ़ने के साधन के रूप में कर रहा है। पहले इन देशों के विकास के लिए निर्माण का प्रोजेक्ट हासिल करता है और इसके लिए सस्ते लोन का झांसा देता है। फिर लोन ना चुका पाने की स्थित में उसके क्षेत्र को 99 साल के पट्टे पर ले लेता है।

इसको इस प्रकार से भी समझा जा सकता है, अंतर्राष्ट्रीय संस्थाएं जो विकास के लिए देशों को लोन देती हैं जैसे IMF तथा विश्व बैंक। ये संस्थाएं लोन देने से पहले यह निश्चित करती हैं कि जिस प्रोजेक्ट के लिए लोन लिया जा रहा है उसकी लागत क्या है, उससे कितनी इंकम होगी तथा क्या उस देश की अर्थव्यवस्था लोन चुकाने में सक्षम है। राजनीतिक रूप से मजबूत और स्थिर शासन व्यवस्था है। इन सभी तथ्यों पर ध्यान देने के बाद ही वह कोई लोन पास करती है। लेकिन चीन यह देखता है कि देश की सामरिक स्थित कितनी महत्वपूर्ण है और भविष्य में वह उसके लिए कितना फादेमंद होगा। इसी आधार पर बड़े विनिर्माण प्रोजेक्ट को हासिल करने का प्रयास करता है।

इस समय कई देशों में चीन के बड़े निवेश वाले विनिर्माण प्रोजेक्ट चल रहे हैं, जैसे कम्बोडिया, नाइजीरिया, श्रीलंका तथा पाकिस्तान। चीनी लोन का सबसे महत्वपूर्ण पहलू यह है कि इसका निवेश ऐसे देशों में हो रहा है जो आर्थिक दृष्टि से कमजोर हैं और जिनपर वह अपनी आर्थिक तथा सैन्य शक्ति का धौंस दिखाकर भविष्य में अपनी जरूरत के हिसाब से शर्तों को तय कर सके। जिससे वह अपने सामरिक हितों को साध सके। चीन के सस्ते लोन की दूसरा महत्वपूर्ण हिस्सा उसकी अस्पष्ट शर्तें हैं। जिसमें गरीब देश बहुत आसानी से फंस जाते हैं।

चीन की कम्पनी प्रोजेक्ट को हासिल करने के लिए कितने आक्रामक हैं, इसका एक मजेदार वाक्या 2009 में देखने को मिला। दरअसल, पोलैण्ड में सड़क निर्माण की एक बड़ी प्रोजेक्ट को हासिल करने के लिए चीन की कम्पनी चाइना ओवरसीज इंजीनियरिंग क्रॉप ने 50% कम लागत में कांट्रेक्ट ले लिया। लेकिन बाद में जब उसकी लागत बढ़ने लगी तब उसको वहां से हटना पड़ा। कहने का अर्थ यह है कि चीन को बढ़चढ़ कर बातें करने की आदत है, उसको लगता की वह दुनिया का सबसे क्षमतावान देश हैं और इसके लिए वह कभी कभी धौंस का भी सहारा लेता है।

श्रीलंका के दक्षिणी समुद्र तट में स्थित हम्बनटोटा बन्दरगाह के विकास के लिए तथा उसे एयरपोर्ट और हाइबे से जोड़ने के लिए चीन ने एक बेहद खर्चीली एवं बड़ा विनिर्माण प्रोजेक्ट 2008-10 में प्रारम्भ किया। यह प्रोजेक्ट तत्कालीन राष्ट्रपति महिन्द्रा राजपक्षे के शासनकाल में प्रारम्भ किया गया। जो सिंघली राष्ट्रवाद के प्रतीक माने जाते हैं। साथ ही चीन से घनिष्ट संबंधों के हिमायती रहे हैं। चीन ने श्रीलंका को सस्ते लोन का झांसा देकर करीब 8 अरब डॉलर की एक बड़ी राशि का निवेश इस प्रोजेक्ट में किया।

प्रारम्भ में श्रीलंका का ऐसा आंकलन था कि इस बंदरगाह के विकास के बाद बहुत बड़ी संख्या में विदेशी जहाज आएगें और इससे उसे काफी आय होगी। परन्तु ऐसा नहीं हुआ। इस बंदरगाह की आय सीमित है। अत: इस भारी भरकम लोन को चुकाना श्रीलंका के लिए नामुमकिन हो गया। ऐसी स्थित में इस बंदरगाह का 80% हिस्सेदारी 99 साल के लिए 1.12 अरब डॉलर के बदले में चीन को दे दिया गया और शेष बची राशि को किस्तों में चुकाने का वादा किया गया। साथ ही इसका संपूर्ण नियंत्रण एवं प्रबन्धन चीन को सौप दिया गया।

वास्तव में चीन का उद्देश्य ही यही था, इसी लिए कुचक्र द्वारा एक बड़ी राशि का इस प्रोजेक्ट में निवेश किया गया। जिसको चुकाना श्रीलंका के लिए मुमकिन नहीं था और इसके बदले में उसे हम्बनटोटा का पूर्ण नियंत्रण मिल गया। देखा जाय तो यह चीन के Pulse of ring की पोलिसी का हिस्सा है। यह बंदरगाह की स्थिति सामरिक रूप से काफी महत्वपूर्ण है। यह भारत के नैसैनिक बेस के नजदीक है साथ ही श्रीहरिकोटा जैसा संस्थान भी यहां से मात्र 500 किमी की दूरी पर स्थित है। जब 2012 में यहां चीनी पनडुब्बी देखी गयी तो भारत की अशंका सच होती प्रतीत हुई।

अत: यह भारत के लिए एक बहुत बड़ी चुनौती बन गयी। इसलिए भारत ने इस प्रोजेक्ट का विरोध किया। साथ ही श्रीलंका के निवासियों में भी चीन की सक्रियता से भय उत्पन्न हुआ और इसका वाजिब कारण भी था। 2012 तक लगभग 10000 से 16000 चीनी नागरिक हम्बनटोटा के क्षेत्रों में बसाए गये। अत: श्रीलंका के आम नागरिकों ने इसका विरोध करना प्रारम्भ कर दिया। भारत सरकार ने भी श्रीलंका सरकार के समक्ष अपनी बढ़ती हुई सुरक्षा चिन्ताओं को लेकर आगाह किया।

इसी समय 2015 में श्रीलंका में चीन से समर्थक राष्ट्रपति के स्थान पर मैत्रीपाला सिरीसेना की नई सरकार शासन में आई। अन्तर्राष्ट्रीय नियमों के अनुसार श्रीलंका इस प्रोजेक्ट को लेकर समझौते से हट नहीं सकता था। अत: इस सरकार ने भारत तथा अपने नागरिकों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए चीन से हम्बनटोटा बंदरगाह को लेकर नया समझौता किया।

नये समझौते के अनुसार अब चीन की हम्बनटोटा बंदरगाह पर हिस्सेदारी 80% के स्थान पर 70% कर दिया गया। बंदरगाह की सुरक्षा का सम्पूर्ण अधिकार अब श्रीलंका सरकार का हो गया। श्रीलंका सरकार की अनुम​ति के बिना चीन के भी नौसैनिक जहाज नहीं आ सकते। चीन को यहां केवल आर्थिक गतिविधियों की ही इजाजत है। 2017 में एक बार फिर चीन पनडुब्बी दिखने के बाद यह प्रश्न उठता है कि श्रीलंका इसको रोक पाने में कहां तक सक्षम रहता है।

इसी प्रकार हिन्द महासागर स्थित मालदीव में भी चीनी सस्ते लोन की सक्रियता देखने को मिली। जहां चीन ने निवेश के आड़ में बहुत ही चतुराई से बंदरगाह तथा एयरपोर्ट विकसित कर अपना नौसैनिक अड्‍डा विकसित कर रहा है। मालदीव से भारत का प्रभाव कम करने के लिए चीन ने यहां पैसा पानी की तरह बहाया। वर्तमान राष्ट्रपति यामीन अब्दुल गयूम चीनी प्रोत्साहन पाकर सम्पूर्ण विपक्ष को कैद करके आपातकाल लागू कर देश की सत्ता पर संपूर्ण अधिकार कर लिया है।

आज मालदीव चीन के नियंत्रण में पूरी तरह से जकड़ा हुआ है। मालदीव की सरकार ने भारत द्वारा चलाए जा रहे मिलन नौसैनिक अभ्यास पर चीन के उकसाने पर शामिल होने से साफ मनाकर दिया है। अर्थात मालदीव चीन की कठपुतली बन भारत को घेरने का एक औजार बन गया है।

चीन की आर्थिक साम्राज्यवाद का अगला मोहरा पाकिस्तान है। जहां चीन वन रोड़ वन बेल्ट सिद्धांत के द्वारा चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा नाम का एक प्रोजेक्ट चला रहा है। जिसके अंतर्गत पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह को चीन के उत्तरी-पश्चिमी स्वायत्त क्षेत्र शिंजियांग को जोड़ते हुए सड़क, रेल तथा गैस पाइप लाइन बिछाने का प्रोजेक्ट प्रारम्भ किया गया है। यह करीब 50 अरब डॉलर का एक बहुत बड़ा विनिर्माण प्रोजेक्ट है।

ऐसा नहीं है कि यह चीन पाकिस्तान को सहायता के रूप में कर रहा है बल्कि यह वहीं सस्ते लोन का निवेश है जिसमें फंसकर श्रीलंका जैसे कई देश चीनी कर्ज के भार से बिल-बिला रहे हैं और अपने सम्प्रभुता का सौदा कर अपनी जमीन पट्टे पर चीन को दे रहें हैं। कहा तो ये भी जा रहा है कि यह चीन के वन बेल्ट वन रोड़ का ही पार्ट है। जो पश्चिम एशिया तथा मध्य एशिया को चीन के व्यापारिक क्षेत्र से जोड़ेगा। जिससे बड़े पैमाने पर व्यापार होगा और संबंधित देशों को लाभ होगा।

लेकिन जिस तरह से एक बड़ी रकम इसमें खर्च की जा रही है। उसको देखते हुए इस प्रोजेक्ट से लाभ होगा इसमें संदेह है। ताजुब है कि पाकिस्तान श्रीलंका से सबक नहीं ले रहा है, जो चीन के कर्ज के दलदल में फंसकर कराह रहा है। ऐसा भी नहीं है कि यह सिर्फ पाकिस्तान के लिए ही घातक होगी बल्कि चीन के लिए भी यह परेशानी का सबब बन सकती है।

यदि इतना भारी निवेश के बाद यह हम्बनटोटा या फिर पोलैण्ड की तरह सफेद हाथी बन कर रह जाये तो क्या चीन की अर्थव्यवस्था इस घाटे को बर्दाश्त कर सकेगी यह समय के गर्भ में है। साथ ही इस प्रोजेक्ट का एक बड़ा हिस्सा अशांत बलूचिस्तान से गुजरता है। अत: इस प्रोजेक्ट में खर्च सुरक्षा अतिरिक्त होगा। तथा बलूच राष्ट्रवादियों से इसे हमेशा खतरा रहेगा क्योंकि वे इसका विरोध कर रहे हैं।

वास्तव में यह प्रोजेक्ट भी चीन की मोंतियों की माला के सिद्धांत पर ही आधारित है। जिसका उद्देश सिर्फ आर्थिक ही नहीं है। यह चीन का कोई आर्थिक संबंधो को लेकर नीति नहीं बल्कि उस देश के सामरिक भाग का प्रत्यक्ष नियंत्रण प्राप्त करने का साधन है। इसके अन्तर्गत सम्पूर्ण हिन्द-प्रशात क्षेत्र पर प्रत्यक्ष नियंत्रण का है। जिसमें जापान से लेकर भारत तक का सम्पूर्ण क्षेत्र समाहित है। इस क्षेत्र में सामरिक तथा राजनीतिक वर्चस्व का यह चीनी प्रयास है।

रिलेटेड पोस्ट

टैक्नोलोजी

ऑटो

फोटो गैलरी

Trending

मासूम प्रद्युम्न की हत्या पर बनेगी फिल्म ‘तलवार 2’

आप भी खरीद सकेंगे फिल्म ‘रूस्तम’ की वर्दी, यहां लगेगी बोली

गरीब बच्चों की मदद के लिए यामी गौतम ने किया ऐसा काम

रेड रिवीलिंग गाउन पहनने पर ट्रोल हुईं मोनालिसा

शिल्पा शिंदे-सुनील ग्रोवर में हुई हाथापाई, वीडियो वायरल

TV एक्ट्रेस को मिला फराह खान के साथ कोरियोग्राफी का आॅफर

सड़क पर नाचने लगी यह एक्ट्रेस, वायरल हुआ Video

विक्रम भट्ट की ‘Twisted 2’ में निया शर्मा का शानदार लुक

कास्टिंग काउच: एक्ट्रेस ने किया खुलासा,जहां-तहां छुआ, फिर किस किया

उर्वशी रौतेला के नखरे की वजह से हुआ लाखों का नुकसान

बालकनी में फंसी ये एक्ट्रेस, फिर हुआ ये हाल

वरुण धवन को चोर समझ गार्ड ने पुलिस को किया कॉल

इस एक्ट्रेस ने सलमान के साथ बिताया वक्त, फिर डिलीट हुई फोटो

गर्लफ्रेंड के साथ शादी के बंधन में बंधे मिलिंद, वीडियो वायरल

इंटरनेशनल मैगजीन टाइम के टॉप 100 लिस्ट में दीपिका का नाम

मिलिंद और अंकिता आज करेंगे शादी, तैयारी की तस्वीरें वायरल

माधुरी और अनिल की जोड़ी 18 साल बाद मचाएगी धमाल

पूल में दिखा ये एक्टर, यूजर्स का कमेंट- बुढ़ापे में जवानी…

दिशा पटानी नहीं चाहती जो उन्होंने किया कोई और करे

video: अमिताभ की ‘102 नॉट आउट’ का नया सॉन्ग ‘बडुम्बा’

एक्ट्रेस का अनोखा मेकअप डांस, Video वायरल

ट्रोलर का कमेंट, एवरेज दिखती हो, कैसे बनी हीरोइन?

वायरल वीडियो

Viral video: सपना चौधरी के गाने पर थिरकते दिखे क्रिस गेल

करण जौहर और सारा अली का डांस वीड‍ियो Viral

video: इरफान खान की हॉलीवुड फिल्म ‘Puzzle’ का ट्रेलर रिलीज

खिलाड़ी को डांसिंग टिप्स देती जैकलीन का Video Viral

पिटबुल नस्ल के इस कुत्ते ने 3 पर किया हमला, VIDEO देख कांप जायेंगे

om prakash Sharma, bjp mla, east delhi, assault, police, ओम प्रकाश शर्मा, बीजेपी विधायक, प्रीत विहार, दिल्ली, पुलिस

BJP विधायक को महिला ने जड़ा थप्पड़, CCTV में कैद

video viral: क्वांटिको 3 में अलग अंदाज में दिखीं प्रियंका चोपड़ा

ज़रा हटके

OMG: इस महिला ने 87 हजार रूपये का ख़रीदा एक केला

सावधान: बच्चे के लंचबॉक्स से निकला जहरीला सांप

maharashtra, pune, roti, 20cm, divorce, महाराष्ट्र, पुणे, रोटी, 20 सेमी, तलाक,

रोटी का व्यास 20 सेमी न होने पर पति करता था पिटाई, कोर्ट पहुंची पत्नी

पाकिस्तान में खुला ‘थर्ड जेंडर’ के लिए स्कूल

एक अनूठी पहल, WhatsApp पर होगी अजान

ajab-gajab, argentina, अजब-गजब,अर्जेटीना

मौत के 500 साल बाद भी इस लड़की के शरीर से बह रहा है खून

ajab-gajab, china, अजब-गजब, चीन

इस देश में लड़कियां पैसे से खरीदती हैं बॉयफ्रेंड

aajab-gajab, somaliland, market of notes, अजब-गजब,सोमालीलैंड, नोटों का बाजार

इस देश में लगता है नोटों का बाजार

तलाक के 50 साल बाद शादी करेंगे ये कपल

aajab-gajab, england, अजब-गजब, इंंग्लैंड

लोग समझ रहे थे झोपड़ी, करोड़ों में बिका तो सामने आई सच्चाई

ajab-gajab, Japan, mirai shikodu, अजब-गजब, जापान, मिराई शिकोडू

जापान के इस रेस्टोरेंट में मिलता है फ्री का खाना

…इस मुस्लिम देश में महिलाओं के लिए लागू हुआ ड्रेस कोड

लाइफस्टाइल

dark chocolate eating benefits

डार्क चॉकलेट खाएं, वजन घटाएं

हर हाल में खुश रहने के ये हैं आसान TIPS

diabetes in kids symptoms and cure

बच्चों में ये बदलाव हैं डायबिटीज के लक्षण, यूं रखें ध्यान

tips for soft and pink lips

पिंक रहेंगे लिप्स, अपनाएं ये TIPS

मोटापा घटाने के ये हैं आसान टिप्स

गर्भावस्था में खाएं ये फल, होगा बहुत फायदा

मैजिकल है मटके का पानी, जानिए फायदे

बेल का शर्बत दिलाएगा गर्मी से निजात: रेसिपी

पढ़िए इरफान की बीमारी न्यूरो एंडोक्राइन ट्यूमर की डिटेल्स

शरीर के इन पांच जगहों को छूने से मोटापा होगा कम

संपादकीय

‘भारत बंद’ आंदोलन या फिर राजनीतिक साजिश

दलित आंदोलन: नेतृत्व विहीन, महज एक बेकाबू भीड़

मुख्य न्यायाधीश पर महाभियोग: निशाने पर अयोध्या!

रक्षा क्षेत्र में अत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ता भारत

जानिए क्या है ‘चिपको आंदोलन’ जिसे आज गूगल भी कर रहा है याद

संविधान के आइनें में ‘राज्यसभा’

चीनी कर्ज के शिकंजे में फंसते छोटे देश

समर्थन वापसी के पीछे TDP का निहितार्थ

राफेल की उड़ान के साथ बढ़ती मित्रता

फ्रांस के साथ भारत की बढ़ती सामरिक भागीदारी

जानिए कौन थें पेरियार, जिन्होनें आजीवन किया ब्राम्हणों का विरोध

आतंकवाद पर पिटता पाकिस्तान

नरेंद्र मोदी और अटल बिहारी का ये दुर्लभ VIDEO जरूर देखना चाहिए

थप्पड़ कांड: तो क्या साजिश के तहत मुख्य सचिव को बुलाया गया था

शर्मनाक: किसी बेगाने की तरह देश में घूम रहे कनाडाई पीएम

यूपी: कहीं नीरव मोदी की तरह ‘कोठारी’ न लगा दें करोड़ों की चपत

जल्द ही आपकी रसोई से गायब हो जायेगा LPG सिलेंडर

आज ही के दिन दहला था ‘गुजरात’, चली गई थी हजारों की जान

Netaji subhash Chandra bose, subhash Chandra bose death, subhash Chandra bose birthday, subhash Chandra bose gold, missing 80kg gold,rahish khan, सुभाष चंद्र बोस, सुभाष चंद्र बोस मृत्यु, नेताज जन्मदिन, बोस का खजाना, रईस खान

नेताजी सुभाष चंद्र बोस के खजाने का रहस्य?

क्या संविधान से बढ़कर है करणी सेना ?

मनोरंजन

आप भी खरीद सकेंगे फिल्म ‘रूस्तम’ की वर्दी, यहां लगेगी बोली

हिना खान के गांव की बहू लुक पर यूजरर्स ने कहा, कामवाली बाई

अनुपम बना रहे थे वीडियो, मां बोली- ‘जब इसको नहीं शर्म तो मुझे…

रेड रिवीलिंग गाउन पहनने पर ट्रोल हुईं मोनालिसा

कश्मीर की वादियों में अलग-अलग अंदाज में नजर आए जैकलीन और सलमान

गरीब बच्चों की मदद के लिए यामी गौतम ने किया ऐसा काम

शिल्पा शिंदे-सुनील ग्रोवर में हुई हाथापाई, वीडियो वायरल

करीना और सोनम की Veere Di Wedding का ट्रेलर रिलीज

सड़क पर नाचने लगी यह एक्ट्रेस, वायरल हुआ Video

कास्टिंग काउच: एक्ट्रेस ने किया खुलासा,जहां-तहां छुआ, फिर किस किया

सरोज खान के बयान पर एक्ट्रेसेस ने ऐसे निकाला गुस्सा

‘संजू’ को बनाने का अनुभव सबसे अलग: राजकुमार हिरानी

विक्रम भट्ट की ‘Twisted 2’ में निया शर्मा का शानदार लुक

टीवी शो के सेट पर लगी आग, लीड स्टार्स का जला चेहरा

ट्रोलिंग के मुद्दे पर स्वरा ने RSS-बीजेपी को लिया निशाने पर

उर्वशी रौतेला के नखरे की वजह से हुआ लाखों का नुकसान

ब्वॉयफ्रेंड ने वीडियो कॉल में दिखाया जूता, सोनम हुईं नाराज

वरुण धवन को चोर समझ गार्ड ने पुलिस को किया कॉल

सुभाष घई ने बताया संजय दत्त की बायोपिक का नाम

बालकनी में फंसी ये एक्ट्रेस, फिर हुआ ये हाल

“रेस 3” की शूटिंग के लिए जैकलीन के साथ सलमान पहुंचे श्रीनगर

दत्त बायोपिक का टीज़र 24 अप्रैल को होगा रिलीज

Viral video: सपना चौधरी के गाने पर थिरकते दिखे क्रिस गेल

अमिताभ की आलोचना पर फंसी पूजा भट्ट, ट्रोलर ने बोला ‘शराबी’

संपादकों की पसंद

भाई ने बहन का नहाते हुए बनाया VIDEO और करता रहा रेप

kerala, malayalam actress, sanusha santosh, maveli express, thiruvananthapuram, sanusha santosh,s molested, केरल,मलयालम अभिनेत्री, सानुशा संतोष,मावेली एक्सप्रेस, तिरुवनंतपुरम

ट्रेन में चिल्लाती रही एक्ट्रेस, होठों को रगड़ता रहा शख्स

Radhika apte, Padman promotion, period, Radhika apte first period, party, bollywood, actress Radhika apte, Padman, akshay kumar, राधिका आप्टे, पैडमैन, पीरियड, बॉलीवुड

..जब पहली बार इस एक्ट्रेस को पीरियड आया तो घर में मना जश्न

महज 630 रूपये में खरीदें 20 हजार वाला Lenovo Z2 Plus

इस स्मार्टफोन पर Jio दे रहा फ्री में 30GB इंटरनेट

Close