नौकरों ने बेटी से किया गैंगरेप, भाई की काटी गर्दन

  By : Akash Kumar | September 6, 2018 3:46 pm

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में बुधवार को नौकरों ने नाबालिग का गैंगरेप कर हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपियों ने शव को भूसे के ढेर में छिपा दिया। पकड़े जाने के डर से आरोपियों ने मासूम के भाई की भी गर्दन काट दी। स्थानीय लोगों ने भाई को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसका इलाज चल रहा है। घटना के बाद मौके पर पहुंचकर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और हत्या की धाराओं के तहत मामला दर्जकर जांच शुरु कर दी है।

बता दें कि हापुड़ जनपद के देहात थाना क्षेत्र में एक दूध व्यापारी के घर में पिछले सात सालों से अंकुर और एक अन्य नौकर काम कर रहा था। नौकरों ने मौका देखकर उसी घर की सातवीं में पढ़ रही छात्रा के साथ गैंगरेप किया और बाद में हत्या कर दी। परिजन जब घर आए तो उन्होंने बेटे को खून से लथपथ जमीन पर पड़ा देखा। वह आनन फानन में घायल बेटे को लेकर अस्पताल पहुंचे।

परिजनों ने घर आकर मासूम बेटी का पता लगाया, लेकिन वह कहीं नहीं मिली। परिजनों ने पुलिस में डकैती और बेटी के अपहरण की शिकायज दर्ज कराई। लेकिन जब पुलिस ने घर के एक नौकर अंकुर को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो उसने लड़की से दुष्‍कर्म के बाद उसकी हत्‍या की बात कबूल ली। जिसके बाद नाबालिग छात्रा की लाश को भूसे के ढेर से बरामद किया गया।

आरोपियों ने मासूम छात्रा की लाश को नग्‍न अवस्‍था में बोरे में बंद कर भूसे के ढेर में छिपाया था। शव बरामद होने के बाद परिजनों ने पोस्टमार्टम करने का विरोध किया। हालांकि पुलिस के समझाने के बाद शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेजा गया। साथ ही दूसरे नौकर की तलाश शुरू कर दी गई है।

वारदात के समय भाई-बहन दोनों घर में अकेले थे। उनके माता पिता किसी काम से बाहर गए हुए थे। नाबालिग को घर में अकेला पाकर हैवानों ने मौके का फायदा उठाया। गुरुवार को मेरठ रेंज के आईजी राम कुमार ने घटनास्थल का मुआयना किया। उन्होंने अस्पताल जाकर घायल बच्चे का हालचाल भी जाना