राखी और मूर्तियां पर नहीं लगेगा GST: पियूष गोयल

  By : Bhagya Sri Singh | August 12, 2018
no gst on rakhi idols, piyush goyal gst, ganesh chaturthi

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने रक्षाबंधन और गणेश चतुर्थी के पर्व से पहले जनता को बड़ी राहत दी है। सरकार के मुताबिक़ रक्षाबंधन में प्रयोग होने वाली राखी और भगवान की मूर्तियां भारत की विरासत का हिस्सा हैं इसलिए इनपर वस्तु एवं सेवा कर नहीं लगेगा। सरकार ने राखी और मूर्तियों को जीएसटी के दायरे से बाहर रखा है। केंद्रीय वित्त मंत्री पियूष गोयल ने इस सिलसिले में कहा कि रक्षाबंधन का त्यौहार पास आ रहा है इसलिए सरकार ने राखी पर से जीएसटी हटाने का फैसला लिया है। साथ ही केंद्र सरकार ने गणेश चतुर्थी के पर्व से पहले मूर्तियों और हस्तशिल्प के तहत बने सामानों को वस्तु एवं सेवा कर (GST) के दायरे से बाहर रखा है।

पीयूष गोयल ने कहा कि भारत में मनाये जाने वाले त्यौहार व इनसे जुड़ी चीजें हमारी धरोहर हैं हमें बेहद आदर के साथ इन्हें सहेज कर रखना है। सरकार के इस कदम से रक्षाबंधन और गणेश चतुर्थी के त्यौहार के कारण खरीददारी के दौरान लोगों की जेबों पर पड़ने वाले अतिरिक्त भार में काफी कमी आएगी जिससे कि आम आदमी को काफी राहत मिलेगी।

गौरतलब हो कि साल 2018 के कैलेंडर के अनुसार रक्षाबंधन 26 अगस्त को है तो वहीं गणेश चतुर्थी का त्यौहार 13 सितंबर को मनाया जाएगा। बाजार में रक्षाबंधन के त्यौहार की रौनक अभी से द्रष्टिगोचर हो रही है। राखियों और इस दौरान प्रयोग होने वाले सामानों से दुकानें भर गई हैं।

बता दें कि इससे पहले केंद्र सरकार ने महिलाओं द्वारा प्रयोग किये जाने वाले सैनेटरी नैपकिन से वस्तु एवं सेवा कर खत्म कर दिया था। पहले इसपर 12 फीसदी का जीएसटी आकर लगता था। सरकार ने महिलाओं द्वारा प्रयोग किये जाने वाले अन्य उत्पादों जैसे ज्‍वैलरी, हेयर ड्रायर, परफ्यूम और हैंड बैग पर से भी 28 फीसदी जीएसटी घटाकर 18 फीसदी कर दिया था।