अब हवाई यात्रा होगा सस्ता, ATF को GST दायरे में लाने पर चर्चा

  By : Shubham Srivastawa | August 20, 2018 4:51 pm
Now air travel will be cheaper, talk about bringing ATF to GST

नई दिल्ली। प्लेन से यात्रा करने वाले यात्रियों को जल्द ही एक खुशखबरी मिल सकती है। जानकारी मिली है कि एयरलाइंस कंपनियों के ऊपर बढ़ते वित्तीय दबाओं को ध्यान में रखते हुए इसे GST के दायरे में लाया जा सकता है। जिसके लिए एविशन मंत्रालय ने, वित्त मंत्रालय से इसपर विचार करने को कहा है। दरअसल, GST काउंसिल की अगली बैठक 30 सितंबर को गोवा में होनी है। जिसमें एयरलाइंस के अलावा और भी कई ऐसे मुद्दे हैं, जिसपर चर्चा होनी है। लेकिन, इन सब के बीच सबसे अहम और प्रमुख मुद्दा एटीएफ और नैचुरल गैस से संबंधित मानी जा रही है।

बता दें कि एविशन मंत्रालय ने एयरलाइंस कंपनियों पर बढ़ती इनपुट कॉस्ट को ध्यान में रखते हुए वित्त मंत्रालय से एटीएफ को GST के दायरे में लाने के लिए में गुजारिश किया है। सूत्रों की मानें तो वित्त मंत्रालय इसे GST दायरे में लाने के पक्ष में है। वहीं असम, ओडिशा जैसे राज्य पहले ही ATF को GST में लाने का समर्थन कर चुके हैं। ऐसे में यदि इसको GST के दायरे में लाया जाता है तो, हवाई किराया सस्ता हो जायेगा।

दरअसल, हवाई किराया घटने, कम मार्जिन और ईंधन की बढ़ती कीमत के कारण मार्केट शेयर के लिहाज से देश की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज को इन दिनों काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में एटीएफ को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग तेजी से बढ़ रही है। बता दें कि एयरलाइंस की ऑपरेटिंग कॉस्ट का 40 फीसदी हिस्सा तो ATF में जाता है और इस समय एटीएफ पर लगभग 40 फीसदी टैक्स लगता है। इस तरह यदि इसे जीएसटी दायरे में लाया जायेगा तो इस पर टैक्स कम देना होगा। जिससे एयरलाइंस कंपनियों की स्थिति सुधरने की संभावना बढ़ जाएगी।