मिलेगा लाभ, 23 लाख कर्मचारियों की पेंशन में हुआ संशोधन

  By : Bankatesh Kumar | June 13, 2018 5:17 pm
central government, 7th pay, pension, amendment,केंद्र सरकार, 7वां वेतन, पेंशन, संशोधन

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने बुधवार को विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों से सेवानिवृत्त 23 लाख कर्मचारियों की पेंशन में संशोधन किया है। इसकी जानकारी मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर दी। उन्होंने कहा कि पेंशन में संशोधन का फायदा 25 हजार से ज्यादा मौजूदा पेंशनर्स को होगा। इन कर्मचारियों की सैलरी में अब 6 हजार से 18 हजार रुपये की वृद्धि हो जाएगी। साथ ही जावेड़कर ने कहा कि इसके अलावा 23 लाख अन्य सेवानिवृत्त कर्मचारियों को भी लाभ मिलेगा।

बता दें कि 25 सितंबर, 2013 को तत्‍कालीन वित्‍तमंत्री पी. चिदंबरम ने 7वें वेतन आयोग के गठन की मंजूरी का ऐलान किया था। जस्टिस ए.के. माथुर की अध्‍यक्षता में बने कमीशन ने 19 नवंबर, 2015 को अपनी सिफारिशों की रिपोर्ट सरकार को सौंपी। इसके बाद 29 जून को कैबिनेट ने आयोग की सिफारिशों को मंजूरी दे दी। लेकिन इस बार अब तक की सबसे कम बढ़ोत्तरी हुई। महज 23.6 फीसदी की सिफारिश ही मिली। मालूम हो कि अब तक देश में 7 वेतन आयोग गठित हो चुके हैं। पहले वेतन आयोग का गठन जनवरी, 1946 को किया गया था। तब आयोग ने 1947 में भारत की अंतरिम सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी।

भले ही केंद्र सरकार ने 50 लाख से ज्यादा सरकारी कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में फिलहाल बढ़ोत्तरी नहीं की है। लेकिन इसके बावजूद भी ग्रामीण डाक सेवकों को लाभ जरुर मिलेगा। क्योंकि हाल ही में कैबिनेट की हुई बैठक में डाक विभाग से जुड़े इन पार्ट टाइम कर्मियों के पारितोषिक में 56 फीसदी तक का इजाफा करने का फैसला लिया गया था। साथ ही केंद्र सरकार के 8 लाख कर्मचारियों को भी फायदा मिलेगा। ऐसे में श‍िक्षकों का वेतन 10400 रुपये से 49800 रुपये की रेंज में पहुंच जाएगा।