साल का दूसरा सूर्य ग्रहण ख़त्म, पढ़ें राशियों पर प्रभाव

  By : Shubham Srivastawa | July 13, 2018 11:57 am
surya-grahan-2018- -solar-eclipse-starts-in-india

नई दिल्ली। इस साल का दूसरा सूर्य ग्रहण आज ख़त्म हो गया है। यह ग्रहण भारत में आंशिक रूप से दिखाई दिया। जबकि न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में पूर्ण रूप से दिखाई दिया। भारतीय समयानुसार ग्रहण सुबह 07:18 बजे से शुरू होकर 8:13 मिनट तक रहा। जिसका प्रभाव मेष, कर्क, कन्या, मिथुन,सिंह, मीन राशियों के लिए अच्छा माना जा रहा है। वहीं वृष, मकर, तुला, वृश्चिक, धनु, कुंभ राशि वालों के लिए यह ग्रहण खास अच्छा नहीं रहेगा।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी ग्रहण के लगने को अशुभ माना जाता है। ऐसा बताया जाता है कि ग्रहण के दौरान खुले आसमान के नीचे नहीं रहना चाहिए। वहीं साल का तीसरा सूर्य ग्रहण 11 अगस्त को लगेगा जो पूर्वी यूरोप, एशिया, नोर्थ अमेरिका और आर्कटिक में दिखाई देगा।

राशियों पर क्या पड़ेगा प्रभाव

मेष राशि के जातकों के लिए यह सूर्य ग्रहण कुछ ख़ास नहीं होगा। इसमें जरूरी कार्य बनते बनते रह जायेगा। शिक्षा तथा प्रतियोगिता की दिशा में चल रहा प्रयास सार्थक होगा।

वृष राशि के जातकों के लिए स्वास्थ्य में गिरावट होगी। धन का व्यय होगा। मित्रों से लाभ मिलेगा।

मिथुन राशि के जातक के लिए जीवन के प्रत्येक फील्ड में उन्नति करेंगे। कोई गृह संबंधी कार्य बनेगा। नयी स्फूर्ति व ऊर्जा से काम करेंगे।

कर्क राशि के जातकों के लिए शिक्षा तथा प्रतियोगिता में सफलता की प्राप्ति। छात्रों के लिए बहुत सुन्दर तथा नए अवसरों की प्राप्ति का रहेगा।

सिंह राशि के जातकों के लिए राजनीति तथा प्रशासन से संबद्ध जातक लाभान्वित रहेंगे। कोई नया कार्य प्रारम्भ होगा।

कन्या राशि के जातकों के लिए कोई कार्य बनते बनते रह जायेगा। धन का व्यय हो सकता है। गाय को पालक खिलाएं। किसी को उधार मत दें।

तुला राशि वालों को वित्तीय लाभ मिलेगा। धन प्राप्ति के मार्ग में आ रही रुकावटें समाप्त होंगी। रियल स्टेट में निवेश की योजना बनेगी।

वृश्चिक राशि वाले लोग कुछ नया करने की सोचेंगे। मित्रों का अभूतपूर्व सहयोग प्राप्त होगा। शनि से सम्बंधित द्रव्यों का दान करें।

धनु राशि वालों के लोकप्रियता बढ़ेगी। आपको कुछ ऐसा मिल सकता है जो क़ि बहुत दिनों से लंबित हो। जीवन साथी से सत्य बोलना आपके हित में रहेगा।

मकर राशि के जातक को राजनीती में कुछ नये बड़े नेताओं से मुलाकात आपको लाभान्वित करेगी। भाई का सहयोग प्राप्त होगा।

कुंभ राशि वाले धन का व्यय न करें। छात्रों को लाभहोगा। तुला या वृष राशि का जातक आपकी सहायता करेगा। किसी समारोह में सम्मान प्राप्त होगा।

मीन जातकों को धन का व्यय होगा। बहुत व्यस्तता रहेगी। गृह कार्यों में संलग्न रहेंगे। जीवन साथी के साथ सैर करेंगे।

क्यों लगता है सूर्य ग्रहण

दरअसल, ग्रहण को विज्ञान में एक खगोलीय घटना कहा गया है। जिसमें पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा तीनों एक ही सीध में दिखते हैं। इस दौरान पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमने के साथ-साथ अपने सौरमंडल के सूर्य के चारों ओर भी चक्कर लगाती है। दूसरी ओर, चंद्रमा दरअसल पृथ्वी का उपग्रह है और उसके चक्कर लगता है, इसलिए, जब भी चंद्रमा चक्कर काटते-काटते सूर्य और पृथ्वी के बीच आ जाता है, तब पृथ्वी पर सूर्य आंशिक या पूर्ण रूप से दिखना बंद हो जाता है। इसी घटना को सूर्यग्रहण कहा जाता है।

इसके पीछे एक एक पौराणिक कथा भी है। जिसमें कहा जाता है कि समुद्र मंथन के दौरान सभी देवताओं और दानवों के बीच अमृत को लेकर काफी घमासान चला। और अंत में मंथन के बाद देवताओं को अमृत मिला, लेकिन असुरों ने उसे छीन लिया। जिसके बाद अमृत को वापस लाने के लिए भगवान विष्णु ने मोहिनी नाम की सुंदर कन्या का रूप धारण किया और असुरों से अमृत ले लिया।

जब भगवान विष्णु अमृत को लेकर देवताओं के पास पहुंचे और उन्हें पिलाने लगे तभी राहु नामक असुर भी देवताओं के बीच जाकर अमृत पीने बैठ गया। जैसे ही वो अमृत पीकर हटा, भगवान सूर्य और चंद्रमा को भनक हो गई कि वह असुर है। तुरंत उससे अमृत छीन लिया गया और विष्णु जी ने अपने सुदर्शन चक्र से उसकी गर्दन धड़ से अलग कर दी। इस घटना को बताया जाता है कि सूर्य और चंद्रमा पर ग्रहण लगा है। यही घटना आज 13 जुलाई को है, आज साल 2018 का दूसरा सूर्यग्रहण लगा है।