रक्षाबंधन: जानिए भाई को राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

  By : Bhagya Sri Singh | August 25, 2018 11:30 am
rakshabandhan shubh muhurt, Rakhi 2018, Raksha Bandhan 2018, Raksha bandhan puja vidhi, Raksha bandhan Significance 2018, Amrit muhurat

नई दिल्ली। भाई-बहन के प्रेम का त्यौहार रक्षाबंधन रविवार 26 अगस्त को पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाएगा। इस दिन बहनें अपनी भाई की कलाई पर राखी बांध कर उनकी लंबी उम्र और समृद्धि की कामना करती हैं। राखी बांधने से पहले बहनें भाई को तिलक चंदन लगाकर, उनपर अक्षत और पुष्प की वर्षा कर उन्हें मिठाई खिलाती हैं और उनकी आरती उतारती हैं। इस दौरान बहनें राजा बली के मंत्र का पाठ करती हैं ताकि भाई दीर्घायु रहे। राखी तो दिन में किसी भी वक्त बांधी जा सकती है लेकिन ज्योतिष शास्त्र के जानकारी के अनुसार शुभ मुहूर्त में भाई को राखी बांधने पर ही शुभ परिणाम मिलते हैं।

रक्षाबंधन में भाई को राखी बांधने के सबसे शुभ समय अमृत मुहूर्त माना जाता है। इसके बाद शुभ मुहूर्त और चर मुहूर्त का नंबर आता है। अमृत मुहूर्त में भाई को राखी बांधने पर मनोवांछित परिणाम मिलते हैं। परिवार में समृद्धि व करियर में सफलता मिलती है। सबसे पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपके लिए राखी बांधने के लिए कौन सा मुहूर्त ज्यादा मुफीद होगा।

यदि आप अमृत मुहूर्त में अपने भाई को राखी नहीं बांध पाती हैं तो परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं हैं। आप राखी बांधने के लिए शुभ मुहूर्त या फिर चर मुहूर्त का भी चुनाव कर सकती हैं। विद्वानों के अनुसार इसबार रक्षाबंधन में भाई को राखी बांधने के शुभ मुहूर्त 12 घंटे तक रहेगा। इसके तहत बहनें सुबह 7:43 मिनट से रात 11: 03 मिनट तक भाई की कलाई पर राखी बांध सकती हैं। आइये आपको बताते हैं राखी बाँधने का शुभ मुहूर्त:
अमृत मुहूर्त:

  • प्रातः 10:53 बजे से लेकर 12:28 बजे तक अमृत मुहूर्त
  • रात्रि 8:13 बजे से लेकर 9:38 बजे तक अमृत मुहूर्त

शुभ मुहूर्त:

  • दोपहर 2:03 बजे से लेकर 3:38 बजे तक शुभ मुहूर्त
  • सायं 6:48 बजे से लेकर 8:13 बजे तक शुभ मुहूर्त

चर मुहूर्त:

  • प्रातः 7:43 बजे से 9:18 बजे तक चर मुहूर्त
  • रात्रि 9:38 बजे से लेकर 11:03 बजे तक चर मुहूर्त

राखी बांधते समय बोला जाने वाला मंत्र:

येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:।
तेन त्वामनुबध्नामि रक्षे मा चल मा चल।।