कृष्ण जन्माष्टमी: यूं करें बाल गोपाल की पूजा, बढ़ेगा वैभव

  By : Bhagya Sri Singh | September 2, 2018 4:33 pm
Janmashtami 2018,Janmashtami Kab Hai,Janmashtami Puja Ka Shubh Muhurat, janamashtami puja, janmashtami puja money, janmashtami pooja vart vidhi,janmashtami story,krishna songs,krishna puja money, krishna puja fame,

नई दिल्ली। भगवान श्रीकृष्ण को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण के बाल रूप की पूजा की जाती है। हिंदू धर्म में यह मान्यता भी है कि बाल गोपाल के जन्म की कथा सुनने से जीवन के सारे कष्ट और बाधाएं दूर हो जाती हैं। भगवान मुश्किल समय में खुद अपने भक्तों को राह दिखाते हैं। जिस तरह से कुरुक्षेत्र में उन्होंने अर्जुन को ज्ञान दिया था और भरी सभा में द्रौपदी की लाज बचाई थी।

ऐसा भी माना जाता है कि देवी, देवता, ग्रह, नक्षत्र, असुर, सभी कृष्ण के ही अधीन हैं। भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन जन्माष्टमी पर आप पूरे मन से उनकी आराधना कर मनोवांछित फल पा सकते हैं। इस अवसर पर भक्तिभाव से किये गए भगवान की पूजा-अर्चना से आपको धन-वैभव की प्राप्ति होगी और राह के कांटे अपने आप दूर हो जायेंगे। जन्माष्टमी पर भक्त भगवान श्री कृष्ण को 56 भोग का प्रसाद भी चढ़ाते हैं।

– ऐसा माना जाता है कि भगवान के बाल गोपाल स्वरुप को छप्पन भोग काफी पसंद है। जो भक्ति इस अवसर पर बाल गोपाल को 56 भोग चढ़ाते हैं उन्हें मनचाहा फल मिलता है। छप्पन भोग में अमूमन अनाज, फल, ड्राई फ्रूट्स, मिठाई, पेय पदार्थ, नमकीन और अचार जैसे खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं।

– बाल-गोपाल को भोग लगाते समय तुलसी अवश्य चढ़ाएं। तुलसी के पत्तों के साथ कनेर के पीले फूल भी अर्पित करें। भगवान को अर्पित की जाने वाली सामग्री में पहले गंगा जल छिड़कर पवित्र कर लें।

– बाल गोपाल को माखन-मिसरी का भोग भी बहुत पंसद है। इसका भोग लगाने से कान्हा बहुत प्रसन्न होते हैं।

– पूजा के समय भगवान के वस्त्र बदलकर उनके मुकुट में नया मोरपंख लगाना न भूलें। इससे कृष्ण जी की विशेष कृपा आपको प्राप्त होगी।

– कान्हा को पीतांबरी बहुत प्रिय है। बाल गोपाल को को पीले वस्त्र ही चढ़ाएं। इससे आपकी मनोकामना पूरी होगी।

– भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव पर धनिए की पंजीरी का भोग लगा सकते हैं।