ये हैं टॉप 5 साइको किलर, कारनामे जान कांप जाएगी रूह

By Bhagya Sri Singh Jan 2, 2018 6:22 pm

 


नई दिल्ली। हरियाणा के पलवल में मंगलवार को एक सायको किलर के कारनामे से पूरा देश सन्न रह गया। इस सायको किलर ने एक के बाद एक के बाद एक कर के महज घंटे में 6 लोगों को लोहे की रॉड से मार कर मौत की नींद सुला दिया। बाद में जानकारी मिली कि ये सेना का रिटायर लेफ्टिनेंट जनरल है। इसी के साथ ये यूनिवर्सिटी टॉपर भी रहा है।

इस खूंखार हत्यारे का नाम नरेश है। इसकी पत्नी से लड़ाई हुई थी जिसकी वजह से वो घर छोड़ कर चली गई थी। जिसके बाद से ही नरेश थोड़ा परेशान रहता था। शायद इसी कुंठा में उसने कई लोगों की जान ले लीं।  आइये हम आपको बताते हैं विश्व के सबसे बड़े हत्यारों के बारे में जिनके काले कारनामे सुन कर कलेजा कांप जाएगा। 


रोडने एकाला

इसने केवल शौकिया और पर 130 मासूम लड़कियों को अपनी हवस का शिकार बनाया और बाद में बड़ी बेदर्दी से उनका कत्ल कर दिया। यह अपने शिकार को तडपा-तडपा कर मारता था। पहले ये लड़कियों को मॉडलिंग का ख्वाब दिखा कर अपने पास बुलाता था। फिर उनके गले को थोड़ा सा दबाता था जिससे लड़कियां बेहोश हो जाती थीं जब कुछ समय बाद उन्हें होश आता तो वो दोबारा से उनका गला घोंट देता। अपने शिकार को तड़पता देख कर उसे मजा आता था।

डेनिअल केमेर्गो बर्बोसा

इस सायको किलर की कहानी बेहद दिलचस्प है। ये एक लड़की से बेहद प्यार करता था लेकिन जब इसे पता चला कि वो वर्जिन नहीं है तो मानो इसके सर पर खून सवार हो गया। इसे लड़कियों से इतनी चिढ हो गयी कि अपनी प्रेमिका सहित करीब 150 मासूम लड़कियों को अपनी हवस का शिकार बनाता चला गया। इसे 8 साल की सजा हुई। लेकिन जेल से फरार होकर यह इक्वाडोर गया जहां एक बार फिर उसने हवस और पागलपन का तांडव किया। उसने फिर से 54 बच्चियों के साथ बलात्कार किया और उन्हें मार डाला। बर्बोसा को दोबारा 16 साल की जेल हुई। जेल में ही बर्बोसा का शिकार हुई एक मासूम के भाई ने जो कि उसी जेल में कैदी था इस खूंखार अपराधी को मार कर अपनी बहन की अस्मत और मौत का बदला ले लिया।

सोहिर्य फेडरोविक ताच

ये एक पुलिस वाला था, ताच नाबालिग लड़कियों की ह्त्या कर उनके मृत शरीर के साथ शारीरिक संबंध बनाता था। यूक्रेन में ही इसने करीब 100 बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बनाया और बाद में उन्हें मार डाला। अपने रसूख का फायदा उठा कर यह मासूम लोगों को जेल में ठूंस देता था। 2005 में इसके काले कारनामों का खुलासा हुआ। फिलहाल ये जेल में हैं।

एंटोनी ओनोप्रिएन्को

इस कौफ्नाक हत्यारे ने यूक्रेन में ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं थीं जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई थी। इस भीषण नरसंहार के बाद ये यूरोप फरार हो गया। 1995 में इसने दोबारा यूक्रेन का रुख किया। इसने एक बार कार में ही परिवार के 5 सदस्यों समेत 8 साल के मासूम को बहुत ही बेदर्दी से गोलियों से भून डाला। यूक्रेन के यूरोप संघ जॉइन करने की वहां से इसे फांसी तो नहीं हुई, लेकिन आजीवन कैद की सजा मिली है।

(जैक द रिपर की भूमिका में एक कलाकार)

जैक द रिपर

ये खूंखार कातिल नशे में चूर वेश्याओं को मारता और फिर उनकी बॉडी के साथ संबंध बनता। पुलिस आज तक इसका कोई सुराग नहीं लगा सकी है। ये जिसे मारता उसका पेट चीर देता या गर्दन। इसके शिकार बने लोगों की लाश का एक अंग गायब मिलता। इसके काले कारनामों पर कई फ़िल्में भी बन चुकी हैं।

रिलेटेड पोस्ट